महालवाड़ी व्यवस्था से आप क्या समझते हैं

    प्रश्नकर्ता MD
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता Quizzer Jivtara
    Participant

    उत्तर प्रदेश और मध्य प्रान्त के कुछ भागों में लार्ड वेलेजली द्वारा लागू व्यवस्था को महालवाड़ी व्यवस्था कहा जाता है।

    महाल का शाब्दिक अर्थ है गाँव के प्रतिनिधि अर्थात् जमींदार या जिनके पास अधिक भूमि होती थी अर्थात् जमींदारों के साथ सामूहिक रूप से लागू की गई व्यवस्था।

    गाँवों को एक महाल माना जाता था। इसमें राजस्व जमा करने का काम मुकद्दम प्रधान, किसी बड़े रैयत को दिया जा सकता था। ये सरकार को राजस्व एकत्रित कर सम्पूर्ण भूमि (गाँव) का कर देते थे। समय के साथ-साथ इसका राजस्व कर बढ़ा दिया जाता था।

    जैसे कि 1803-04 में इन प्रान्तों से 188 लाख रु. एकत्रित किये गये। आगे चलकर यही राजस्व कर 1817-18 में बढ़ाकर 297 लाख कर दिया गया।

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये