भारत की स्थिति आकार और विस्तार

भारत की स्थिति आकार और विस्तार

भारत, एक अद्वितीय देश, जिसका विस्तार, आकार और स्थिति में एक अद्भुत अन्यता है। हम इस लेख में भारत के भौगोलिक स्थिति, आकार और विस्तार की विवेचना करेंगे ताकि आपको इस शानदार देश के बारे में एक समृद्ध और संपूर्ण ज्ञान हो।

आकार और स्थान

भारत एक बड़े और समृद्ध देश के रूप में अपनी स्थिति में अभूतपूर्व है। इसका अक्षांशीय सीमा 8° 4′ उत्तरी अक्षांश से 37°6′ उत्तरी अक्षांश तथा 68° 7′ पूर्वी देशान्तर से 97°25′ पूर्वी देशान्तर तक फैला हुआ है। इसमें लगभग 30° का अंतर है, जो इसे एक विशेष देश के रूप में बनाता है।

भौगोलिक विवेचना

भारतीय महाद्वीप का अद्वितीय हिस्सा होने के साथ, भारत दुनिया में एक अद्वितीय स्थान रखता है। इसकी चौड़ाई और लंबाई में भिन्नता देखने के लिए, हमें इसे अण्डमान और निकोबार द्वीप समूह के सबसे दक्षिणी बिंदु, ‘इन्दिरा पॉइंट’ पर जाना होगा, जो 6° 45′ उत्तरी अक्षांश पर स्थित है।

कश्मीर से कन्याकुमारी तक की लंबाई 3,214 कि०मी० है, जबकि कच्छ के रन से अरुणाचल प्रदेश तक पूर्व-पश्चिम दिशा में इसकी चौड़ाई 2,933 कि०मी० है। यह सिर्फ आकार का वर्णन नहीं, बल्कि देश की भौगोलिक विविधता को भी दिखाता है।

भूगोलीय विशिष्टताएं

भारत का अक्षांशीय और देशांतरीय विस्तार तथा दूरी में अंतर एक रोचक भौतिक विशेषता है। इसका अक्षांशीय एवं देशांतरीय विस्तार लगभग एक समान होता है, लेकिन किलोमीटर में उत्तर-दक्षिण विस्तार इसके पूर्व-पश्चिम विस्तार की तुलना में अधिक है। इसका कारण है कि ध्रुवों की ओर जाते समय दो देशांतर रेखाओं के बीच की दूरी घटती है, जबकि दो अक्षांश रेखाओं के बीच दूरी हर जगह एक-सी रहती है।

सीमाएं और सीमांतगर्त

भारत का सीमांतगर्त क्षेत्र आगे समुद्र की ओर 12 समुद्री मील तक फैला हुआ है, जिससे यह एक समृद्ध और बेहतरीन समुद्री देश बनता है। पार करने के लिए 4 मिनट का समय लगता है, जो इसे और भी विशेष बनाता है। अरुणाचल प्रदेश और सौराष्ट्र के बीच स्थानीय समय का अंतर 30×4 = 120 मिनट, अर्थात् दो घंटे है, जो कि समय की अद्वितीय विशेषता है।

सूर्योदय और समय

भारत में सूर्योदय का समय एक और रोचक तथा महत्वपूर्ण पहलु है। इसका कारण है कि भारतीय मानक समय ग्रीनविच माध्य समय से 5 घंटे 30 मिनट आगे है। इससे हमें सभी स्थानों पर समान समय की घड़ियाँ मिलती हैं, लेकिन उत्तर-पूर्वी राज्यों में सूर्योदय जैसलमेर से दो घंटे पहले होता है, जो इसे और भी अनूठा बनाता है।

भारत का सार

भारत विश्व के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का लगभग 2.4 प्रतिशत है, जिससे यह विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा देश है। यह सबसे बड़े देशों की सूची में रूस, चीन, कनाडा, ब्राजील और आस्ट्रेलिया के बाद आता है।

इसकी सीमा की कुल लम्बाई 15,200 किलोमीटर है जो बांग्लादेश, चीन, पाकिस्तान, नेपाल, म्यांमार, भूटान तथा अफगानिस्तान को छूती है। भारत की तटीय सीमा 7,517 किलोमीटर हो जाती है जब अण्डमान-निकोबार तथा लक्षद्वीप को भी शामिल किया जाता है।

जनसंख्या और अधिक

सन् 2001 की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या 102.7 करोड़ है, जिससे यह चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है। इस लेख के माध्यम से हमने भारत के भौगोलिक स्वरूप की अद्वितीयता को समझा, और आपको यह जानकर आनंद आया होगा कि हम ने सीधे और विस्तृत जानकारी प्रदान की है।