दंड चित्र क्या होते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं

दंड चित्र से आशय उन चित्रों से होता है जिनको बनाने में केवल एक ही विस्तार अथवा ऊँचाई को महत्व दिया जाता है, चौड़ाई अथवा मोटाई को नहीं।

दंड चित्र, रेखाओं (lines) या. दंड (Bars) के रूप में होते हैं।

दंड चित्र को एक विमीय चित्र की भी संज्ञा दी जाती है।

दंड चित्र में समंकों का चौड़ाई से कोई प्रत्यक्ष संबंध नहीं होता है परंतु सभी दंडों में चौड़ाई का समान होना आवश्यक होता है।

विभिन्न इकाइयों के माप के आधार पर रेखाओं अथवा दंडों की ऊँचाई रखी जाती है।

दंड उग्र (vertical) या क्षैतिज (Horizontal) किसी रूप में भी प्रदर्शित किये जा सकते हैं।

व्यवहार में अधिकांशतः उदग्र दंड का ही प्रयोग किया जाता है।

इनका प्रयोग उन स्थितियों में किया जा सकता है जहाँ न्यूनतम एवं अधिकतम मूल्य में अंतर अधिक न हो ।

एक विमीय चित्र के प्रमुख प्रकार अग्रलिखित हैं :-
(1) रेखा चित्र
(2) सरल या साधारण दंड चित्र
(3) द्विगुण दंड चित्र
(4) बहुगुणी दंड चित्र
(5) अंतर्विभक्त दंड चित्र
(6) प्रतिशत अंतर्विभक्त चित्र
(7) लाभ हानि दंड चित्र
(8) द्विदिशा दंड चित्र
(9) स्तूप या सोपान
(10) विचलन दंड चित्र
(11) सरकन दंड चित्र

Scroll to Top