1930 के दशक में बिहार में किसान आन्दोलन का नेतृत्व किसने किया था?

    प्रश्नकर्ता jid
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtarachandrakant
    Moderator

    1930 के दशक में बिहार में किसान आन्दोलन का नेतृत्व स्वामी सहजानन्द किया था।

    1936 में लखनऊ में ‘अखिल भारतीय किसान कांग्रेस की स्थापना हुई जिसका नाम बाद में बदलकर ‘अखिल भारतीय किसान सभा‘ कर दिया।

    बिहार प्रान्तीय किसान सभा के लड़ाकू संस्थापक स्वामी सहजानन्द सरस्वती इसके अध्यक्ष और आन्ध्रा में किसान आन्दोलन के अगुआ तथा कृषि क्षेत्र की समस्याओं के विद्वान एन.जी, रंगा, महासचिव चुने गये।

    किसान सभा के पहले सम्मेलन में खुद जवाहर लाल नेहरू आये और संगठन का स्वागत किया। इस सम्मेलन में उपस्थित अन्य हस्तियाँ थीं राममनोहर लोहिया, सोहन सिंह जोश, इन्दुलाल याज्ञनिक, जय प्रकाश नारायण, मोहन लाल गौतम, कमल सरकार।

    सम्मेलन में निर्णय लिया गया कि किसानों का एक घोषणा पत्र निकाला जाए तथा इंदुलाल | याज्ञनिक के सम्पादन में एक बुलेटिन का नियमित प्रकाशन हो।

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये