19वीं सदी के मध्य में अंग्रेज इतिहासकारों ने भारत के इतिहास को कितने भागों में बांटा था ?

    प्रश्नकर्ता Teekam
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtaraQuizzer
    Participant

    9वीं सदी के मध्य में अंग्रेज इतिहासकारों ने भारत के इतिहास को तीन भागों में बांटा था |

    जब हम इतिहास या कोई कहानी लिखते हैं तो उसे टुकड़ों या अध्यायों में बाँट देते हैं।

    हम ऐसा क्यों करते हैं :-  ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि हर अध्याय में कुछ सामंजस्य रहे। इसका मकसद कहानी को इस तरह सामने लाना होता है कि उसे आसानी से समझा जा सके और याद रखा जा सके।

    स्कॉटलैंड (ग्रेट ब्रिटेन का उत्तरी भाग ) के अर्थशास्त्री और राजनीतिक दार्शनिक जेम्स मिल ने तीन विशाल खंडों में ए हिस्ट्री ऑफ़ ब्रिटिश इंडिया (ब्रिटिश भारत का इतिहास) नामक एक किताब लिखी।

    इस किताब में उन्होंने भारत के इतिहास को हिंदू, मुस्लिम  और ब्रिटिश, इन तीन काल खंडों में बाँटा था।

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये