संतुलित आहार किसे कहते हैं

    प्रश्नकर्ता laxmi12
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता kuldeep12
    Participant

    जिस भोजन को ग्रहण करने से व्यक्ति-विशेष की भोजन सम्बन्धी समस्त आवश्यकताएं पूर्ण हो जाएँ, उस भोजन को सन्तुलित भोजन कहते हैं।

    सन्तुलित भोजन में आहार के समस्त पोषक तत्व सही मात्रा एवं अनुपात में विद्यमान होते हैं।

    भोजन हमारे जीवन का मूल आधार है वायु और जल के पश्चात् हमारे लिए भोजन ही सबसे आवश्यक है।

    विभिन्न खाद्य पदार्थों के मिश्रण से बना वह आहार जो हमारे शरीर के लिए सभी पौष्टिक तत्व हमारी शारीरिक आवश्यकताओं के अनुसार उचित मात्रा में और साथ ही शरीर के संचय कोष के लिए भी कुछ मात्रा में पौष्टिक तत्व प्रदान करता है, संतुलित आहार कहलाता है।

    सन्तुलित आहार के अभाव में मनुष्य का शारीरिक व मानसिक विकास अवरूद्ध हो जाता है।

    सन्तुलित आहार के पोषक तत्वों के नाम:-
    1. कार्बोहाइड्रेट
    2. वसा एवं तेल
    3. प्रोटीन
    4. विटामिन
    5. खनिज लवण
    6. जल

    सन्तुलित आहार को प्रभावित करने वाले कारक:-
    1. आय
    2. लिंग
    3. स्वास्थ्य
    4. क्रियाशीलता तथा विशेष शारीरिक अवस्था

    संतुलित आहार का महत्त्व:-

    व्यक्ति की उचित वृद्धि, विकास व सुयोग्यता रोटी, चावल, आलू, पास्ता, व के लिए संतुलित आहार, सर्वश्रेष्ठ आहार फल एवं सब्जियाँ माना गया है।

    संतुलित आहार, व्यक्ति को स्वस्थ, हृष्ट-पुष्ट व निरोग बनाए रखने में मदद करता है।

    ऐसे आहार में, शरीर को शक्ति, ऊर्जा प्रदान करने वाले व शरीर को निरोग रखने वाले सभी पौष्टिक तत्त्व (Nutrients) होते हैं।

    संतुलित आहार से व्यक्ति को आवश्यकतानुसार कैलोरीज प्राप्त होती हैं।

    इसके अतिरिक्त, आहर में दूध एवं डेयरी भिन्न-भिन्न प्रकार के आहार होते हैं जो मीट, मछली, अंडे, फलियाँ ।

    पदार्थ व प्रोटीन के डेयरी से वसा व शुगर की अधिकता स्वादिष्ट एवं रुचिकर होते हैं।

    संतुलित असंबंधित स्रोत वाली खाद्य एवं पेय पदार्थ आहार से शरीर की कोशिकाओं तथा तंतुओं संतुलित आहार (Balanced Diet) (Tissues) की टूट-फूट की मरम्मत होती है।

    संतुलित आहार अधिक महँगा भी नहीं होता।

    संतुलित आहार, शरीर में रोग निवारक क्षमता (Immunity) को बढ़ाता है इस प्रकार अनेक रोगों से बचाव भी करता है।

    संतुलित आहार के लाभ:-

    1. सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है- संतुलित, पर्याप्त और विविध पोषक तत्वों से युक्त आहार का चयन करना एक खुशहाल और स्वस्थ जीवन शैली की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। आहार में मौजूद विटामिन और खनिज तत्व प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और इसके स्वस्थ विकास के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। एक स्वस्थ आहार हमको मोटापे, हृदय रोगों से मानव शरीर की रक्षा कर सकता है। इस प्रकार संतुलित आहार का सेवन हमारे सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत ही आवश्यक है।

    2. वजन नियंत्रित रखने में मदद करता है- चूँकि एक संतुलित आहार के लिए कई तरह के पौष्टिक खाद्य पदार्थ खाने की आवश्यकता होती है, इसीलिए इस तरह के आहार से शरीर का वजन नियंत्रित रहता है। शरीर की पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए, डेयरी उत्पादों के साथ – साथ आहार में साबुत अनाज, सब्जियों और फलों को उचित मात्रा शामिल करना आवश्यक है। हर दिन इन पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को खाने से हमारा वजन बढ़ाने वाले प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और वसायुक्त या शर्करायुक्त स्नैक्स जैसे अधिक कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों के लिए पेट में कम जगह बचती है जिससे हम स्वतः ही इनका सेवन कम कर देते हैं और परिणामस्वरूप हमारा वजन नियंत्रण में रहता है।

    3. इम्यूनिटी के लिए जरूरी है- संतुलित आहार का सेवन हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। इससे यह सुनिश्चित होता है कि प्रतिरक्षा प्रणाली के कुशल कार्य के लिए आवश्यक विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में शरीर को मिल रहे हैं । यहाँ तक कि कुछ पोषक तत्वों जैसे विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन ई, जस्ता, लोहा और सेलेनियम में थोड़ी कमी भी प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य को बाधित कर सकती है। विशेषज्ञों के अनुसार प्रतिरक्षण प्रणाली में रोगाणुओं से लड़ने वाली कोशिकाओं के उत्पादन और रखरखाव के लिए ये पोषक तत्व महत्वपूर्ण है । एक संतुलित आहार रक्त बाहिकाओं के कार्य पर भी प्रभाव डालता है क्योंकि प्रतिरक्षा प्रणाली रक्त प्रवाह पर ही निर्भर होती है।

    4. शारीरिक ऊर्जा बढ़ाता है – हमारे शरीर को प्राप्त होने वाली ऊर्जा संतुलित आहार के सबसे महत्वपूर्ण लाभों में से एक हैं । शरीर को विटामिन, खनिज और पोषक तत्वों के सही अनुपात के रूप में ईधन देते रहने से हमें वह ऊर्जा मिल सकती है जो हमको अपने दिन भर के कामों को करने के लिए चाहिए । स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट जैसे कि साबुत अनाज, फल, सब्जी और फलियाँ पचने में धीमी होती हैं। इसीलिए ये दिन भर शरीर में ऊर्जा की लगातार आपूर्ति के लिए रक्त शर्करा और इंसुलिन के स्तर के लिए महत्वपूर्ण है।

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये