विशेषण कितने प्रकार के होते हैं? उदाहरण सहित समझाइए

    प्रश्नकर्ता krish12
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtarachandrakant
    Moderator

    विशेषण छ: प्रकार के होते हैं.

    (1) गुण वाचक-जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम की कोई विशेषता (जैसे-गण, रंग, आकार) बतलाते हैं, वे गण वाचक विशेषण कहलाते हैं. यथा-सफेद, छोटा, बुद्धिमान आदि,

    (2) परिमाण वाचक– जो शब्द किसी वस्तु की तादाद बताते हैं, परिमाण वाचक विशेषण कहलाते हैं. यथा-थोड़ा, अधिक आदि.

    (3) संख्या वाचक- जो शब्द संज्ञा की संख्या का बोध कराते हैं, संख्या वाचक विशेषण कहलाते हैं. यथा-पाँच, प्रथम आदि.

    (4) संकेत वाचक- जो शब्द किसी संज्ञा की ओर संकेत करते हैं, संकेत वाचक विशेषण कहलाते हैं. यथा-यह, इस, ये आदि

    (5) व्यक्ति वाचक- व्यक्ति वाचक संज्ञा से बने विशेषण व्यक्ति वाचक विशेषण कहलाते हैं. यथा-बनारसी, भारतीय आदि.

    (6) विभाग बोधक- भिन्नता अथवा पृथकता प्रकट करने वाले शब्द विभाग बोधक विशेषण कहलाते हैं. यथाप्रत्येक, प्रति.आदि.

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये