रासो काव्य की विशेषताओं का उल्लेख सविस्तार कीजिये

    प्रश्नकर्ता munesh Thakur
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता Quizzer Jivtara
    Participant

    रासो काव्य की प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार थीं –

    (क) ‘रासो’ चरित्र प्रधान काव्य था।

    (ख) इसका मुख्य रस ‘वीररस’ था।

    (ग) ये ग्रंथ अपभ्रंश या पुरानी हिन्दी में लिखे गए थे।

    (घ) इनकी कथाओं में इतिहास और कल्पना का अद्भुत समन्वय मिलता है।

    (च) इन ग्रन्थों में तत्कालीन समाज और संस्कृति का अच्छा निरूपण मिलता है।

Viewing 1 replies (of 1 total)

Tagged: 

  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये