मेनर से आप क्या समझते हैं

    प्रश्नकर्ता Contact form User
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtaraQuizzer
    Participant

    यूरोप में भुमिधारक अभिजात वर्ग के घर को मेनर कहा जाता था |

    9 वीं और 16वीं सदी के मध्य यूरोप में तीन सामाजिक श्रेणियाँ – ईसाई पादरी , भुमिधारक अभिजात वर्ग तथा कृषक वर्ग थी |

    इनमें से अभिजात वर्ग की एक विशेष हैसियत थी |

    उनका अपनी संपदा पर स्थायी तौर पर पूर्ण नियंत्राण था।

    वह अपनी सैन्य क्षमता बढ़ा सकते थे |

    वे अपना स्वयं का न्यायालय लगा सकते थे और यहाँ तक कि अपनी मुद्रा भी प्रचलित कर सकते थे।

    वे अपनी भूमि पर बसे सभी व्यक्तियों के मालिक थे।

    वे विस्तृत क्षेत्रों के स्वामी थे जिसमें उनके घर, उनके निजी खेत, चरागाह और उनके कृषको के खेत तथा घर होते थे |

    उनके इसी घर को “मेनर” कहा जाता था |

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये