भारत में मृदा का वितरण को समझाइए

    प्रश्नकर्ता Contact form User
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtaraQuizzer
    Participant

    हमारे देश में मुख्य रूप से 6 तरह की मृदाओ का फैलाव है :-
    1) जलोढ़ मृदा
    2) काली मृदा
    3) लेटराइट मृदा
    4) लाल और पीली मृदा
    5) वन मृदा
    6) शुष्क मृदा

    1) जलोढ़ मृदा :- इन 6 मृदा में से सबसे प्रमुख है जलोढ़ मृदा जो कि नदियों के मैदानी इलाकों में बिछी हुई है |यह अत्यंत ही उर्वर मृदा है तथा खेती के लिए उपर्युक्त है|

    2) काली मृदा :- भारत के पश्चिमी इलाकों में काली मृदा पाई जाती है जो कि कपास गेहूं आदि की खेती के लिए उपर्युक्त है |काली मृदा बहुत ही महीन कणों से मिलकर बनी होती है इस वजह से इसमें नमी धारण करने की क्षमता बहुत होती है |

    3) लेटराइट मृदा :- भारत के अधिक वर्षा वाले प्रदेशों में लेटराइट मिट्टी पाई जाती है लेटराइट मृदा तापमान और अत्यधिक वर्षा वाले क्षेत्रों में विकसित होती है|

    4) लाल और पीली मृदा :- लाल मिट्टी का लाल रंग लौह ऑक्साइड की उपस्थिति के कारण होता है , लेकिन जलयोजित रूप में यह पीली दिखाई पड़ती है | मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखण्ड, महाराष्ट्र , उत्तर प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु  मेघालय, नागालैण्ड, तथा पश्चिमी बंगाल में इसका विस्तार है। छत्तीसगढ़ में लाल-पीली मिट्टी को स्थानीय रूप से “मटासी मिट्टी” के नाम से जाना जाता है

    5) वन मृदा :- हिमालय पर वन मृदा पाई जाती है |

    6) शुष्क मृदा:-  थार मरुस्थल में शुष्क मृदा पाई जाती है |

     

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये