बिग बैंग सिद्धांत का विस्तार से वर्णन करें

    प्रश्नकर्ता jid
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtarachandrakant
    Moderator

    बिग बैंग सिद्धांत :-  आधुनिक सिद्धांतों में बिग बैंग सिद्धांत (Big Bang Theory) अथवा विस्तरित ब्रह्मांड परिकल्पना  सबसे महत्त्वपूर्ण है। सन् 1920 में एडविन हब्बल (Edwin Hubble) ने ब्रह्मांड के विस्तार के संबंध में प्रमाण दिए।

    बिग बैंग सिद्धांत 1950 तथा 1960 के दशकों में विकसित हुआ तथा 1972 में सत्यापित किया गया। इस सिद्धांत के अनुसार ब्रह्मांड में सब कुछ एकाकी परमाणु से आज से लगभग 13.7 अरब वर्ष पहले उपजा।

    समय बीतने के साथ आकाशगंगाओं के बीच की दूरियाँ बढ़ी और वे एक-दूसरे से दूर हो गईं। आकाशगंगा तारों का समूह है।

    स्पष्ट है कि प्रारंभ में ब्रह्मांड बहुत ही छोटे आकार का था। जैसे ही ब्रह्मांड फैला अग्निपिंड से विकिरण हुआ और यह फैलकर ठंडा हो गया। हल्के बादल पहले से ही उपस्थित थे।

    बादलों के कण गुरुत्वाकर्षण द्वारा एक-दूसरे की ओर आकर्षित हुए और विखंडित होकर आकाशगंगाओं का निर्माण करने लगे। आकाशगंगाओं ने स्वयं टूटकर तारों का निर्माण किया। बाद में तारे भी टूटे और उनके टूटने से ग्रहों का निर्माण हुआ। हमारे सौरमंडल की रचना इसी प्रकार से हुई।

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये