बंधुत्‍व , मैत्री आदि गुणों की पुष्‍पों के साथ तुलना आधारित है

    प्रश्नकर्ता rogha
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtaraankit
    Participant

    बंधुत्‍व , मैत्री आदि गुणों की पुष्‍पों के साथ तुलना उनके अपनत्‍व पर आधारित है

    गांधी जी ने इसलिये किया क्‍युकि वे मानते थे कि बंधुत्‍व , मैत्री  , स्‍नेह, सौहाद्र आदि गुण मानवता रूप टहनी के पुष्‍प है जो सर्वदा सुगंधित रहते हैं

    इससे यह पता चलता कि  बंधुत्‍व , मैत्री   आदि गुणों की उनके पुष्‍पों से तुलना उनके अपनत्‍व पर आधारित है

     

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये