पाँयनि नूपुर मंजु बजैं, कटि किकिनि कै धुनि की मधुराई। साँवरे अंग लसै पट पीत, हिये हुलसै बनमाल सुहाई।

    प्रश्नकर्ता mamta
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता Shivani
    Participant
    • प्रश्न की पंक्तियों में बताया गया है कि कैसे श्री कृष्ण की विशेषताओं को खूबसूरती से चित्रित किया गया है।
    • ऐसा कहा जाता है कि उनके पास सुंदर बजने वाली पायल और एक सुंदर करधनी है।
    • उसकी त्वचा का रंग सांवला था और उसे पीले वस्त्रों से सजाया गया था।
    • उनके गले में हार उनकी खूबसूरती में चार चांद लगा रहा है।
    • इन पंक्तियों में साहित्यिक ब्रजभाषा का प्रयोग किया गया है।केसीआर का प्रयोग किया गया है, जो इसे संगीतमय और गीतात्मक दोनों बनाता है।
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये