नेतृत्व के प्रकारों का वर्णन करें

    प्रश्नकर्ता krish12
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtarachandrakant
    Moderator

    प्रमुख समाजशास्त्रियों के नेतृत्व का वर्गीकरण अलग-अलग प्रकार से किया है।

    उदाहरणार्थ, किम्बल यंग मे नेतृत्व को सात वर्गों में विभक्त किया है, जैसे-

    (1) राजनैतिक नेता

    (2)प्रजातन्त्रात्मक नेता

    (3)नौकरशाही नेता

    (4) कूटनीतिज्ञ नेता

    (5)सुधारक नेता

    (6) आन्दोलक नेता

    (7)सिद्धान्तवादी नेता।

    इसी प्रकार वोगार्डस ने नेता को निम्नलिखित पांच वर्गों में विभक्त किया है

    1. प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष नेता

    2. सपक्षीय एवं वैज्ञानिक नेता

    3. सामाजिक, अधिशासी तथा मानसिक नेता

    4. पैगम्बर, संत, विशेषज्ञ तथा मालिक नेता

    5. स्वेच्छाचारी, करिश्माई, पैतृक तथा प्रजातान्त्रिक नेता।

    मान्यता के आधार पर नेतृत्व को तीन वर्गों में विभक्त किया जाता है

    (1) स्वतः नियुक्त

    (2) समूह द्वारा नियुक्त

    (3) कार्यकारिणी द्वारा नियुक्त।

    इसी प्रकार अन्य दृष्टियों से भी नेतृत्व को विभिन्न प्रकार से वर्गीकृत किया है।

    नेतृत्व के इन सभी प्रकारों को हम मोटेतौर पर दो वर्गों में स्वभाव के अनुसार व्यक्त कर सकते हैं
    1. प्रजातान्त्रिक नेतृत्व,

    2. राजतान्त्रिक नेतृत्व

    आगामी पंक्तियों में नेतृत्व को इन्ही प्रकारों को कुछ प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख किया गया है-

    1. प्रजातान्त्रिक नेतृत्व–  प्रजातान्त्रिक नेतृत्व वह होता है जिसमें नेता अपने निर्णय सभी या अधिकांश सदस्यों के परामर्श से लेता है। इस प्रकार के नेतृत्व में सभी सदस्यों की रायों तथा सुझावों को वांछित महत्व दिया जाता है।

    इसमें प्रत्येक व्यक्ति को अपनी बात कहने का अधिकार होता है।

    इस प्रकार के नेतृत्व में सत्ता का विकेन्द्रीकरण होता है। इस प्रकार के नेतृत्व में नेता सभी सदस्यों के साथ समानता का व्यवहार करता है।  इसके सभी सदस्य समान भागीदारी से कार्य करते हैं।

    2. राजतान्त्रिक निरंकुश नेतृत्व-प्रजातान्त्रिक नेतृत्व के ठीक विपरीत निरंकुशवादी नेतृत्व होता है। इस प्रकार के नेतृत्व में सम्पूर्ण सत्ता एक ही व्यक्ति में निहित होती है। अन्य सदस्यों को राय या सम्मति देने का अधिकार नहीं होता है।

    इसी प्रकार नेता सभी क साथ समानता का व्यवहार नहीं करता है। सत्ता का भी विकेन्द्रीकरण न होकर सत्ता कुछ ही हाथों में सिमट कर रह जाती है।

    वहाँ नेता ही समूह की समस्त नीतियों का निर्धारण करता है तथा उन नीतियों का क्रियान्वयन कैसे हो, यह भी वह स्वयं निर्धारित करता है।

    नेता अकेला ही सर्वेसर्वा होता है। वह स्वयं ही सर्वोच्च पद पर रहता है। स्वयं ही न्यायाधीश तथा कार्य मालिक होता है तथा वही प्रत्येक के भाग्य का निर्णय करता है।

    नेतृत्व का अर्थ-  किसी व्यक्ति में नेतापन के जो गुण होते हैं वे ही संक्षेप में नेतृत्व कहलाते हैं।

    नेतृत्व किसी भी क्षेत्र तथा दिशा में हो सकता है। यह समूह के व्यक्तियों के व्यवहारों को प्रभावित करने की योग्यता है।

    यह व्यक्तित्व का एक शील गुण है। नेता अपने नेतृत्व गुण के कारण समूह-व्यवहारों को इस सीमा तक प्रभावित करता है कि जिस सीमा तक समूह नेता को प्रभावित नहीं कर पाते हैं।

    दूसरे शब्दों में, नेता नेतृत्व के कारण समूह के व्यवहारों को अधिकमात्रा में प्रभावित करता हे जबकि समूह उस व्यक्ति के व्यवहारों को उतनी मात्रा में प्रभावित नहीं कर पाते हैं।

    लापीयर तथा फ्रान्सवर्थ इसी तथ्य को स्वीकारते हुए लिखते हैं
    “Leadership is behaviour that affects the behaviour of other people more than their behaviour affects that of the leader.”

    चेस्टर बर्नार्ड के अनुसार “नेतृत्व वह व्यवहारगत गुण है जिससे वह अन्य व्यक्तियों या उनकी क्रियाओं को निर्देशित करता है।”

    एक नेता अन्य व्यक्तियों के व्यवहारों को प्रभावित कर उन्हें एक निश्चित दिशा तथा उद्देश्य प्रदान करता है।

    नेता तथा उसके अनुयायीयों का एक-दूसरे पर समान प्रभाव नहीं होता है। नेता का अपने अनुयायियों पर अपेक्षाकृत अधिक प्रभाव पड़ता है।

    जबकि अनुयायियों का अपने नेता पर उतना प्रभाव नहीं पड़ता हैं।

    इन परस्पर पड़ने वाले प्रभावों के सन्दर्भ में ही नेता को समझा जा सकता है।

    लईस एलन के अनुसार– “A leader in one who guides and directs other people. A leader gives the efforts of his followers a direction and purpose by influencing their behaviour.”

    संक्षेप में अपने अनुयायियों के कार्यों तथा विचारों एवं व्यवहारों को प्रभावित कर उन्हें नई दिशा तथा उद्देश्य प्रदान करने के गुण ही नेतृत्व कहलाता है

     

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये