अमीबा में अलैंगिक जनन किस विधि द्वारा होता है

    प्रश्नकर्ता Contact form User
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता jivtaraQuizzer
    Participant

    अमीबा में अलैंगिक जनन द्विविखण्डन विधि द्वारा होता है।

    अमीबाओं में सर्वप्रथम केन्द्रक में उपस्थित गुणसूत्रों समसूत्रण द्वारा प्रतिलिपिकरण (Replication) होता है और फिर केन्द्रक खाँच (Furrow) द्वारा दो भागों में विभक्त हो जाता है।

    इसके साथ ही कोशिका द्रव्य भी धीरे-धीरे केन्द्रकों के पृथक् होने से बँटता जाता है।

    अन्ततः इससे दो स्वतन्त्र पुत्री कोशिकाओं (Daughter Cells) का निर्माण हो जाता है।

    प्रत्येक कोशिका में एक-एक छोटा केन्द्रक होता है।

    प्रत्येक खण्ड विकसित होकर एक नया जीव बना देता है।

    विखण्डन प्रजनन की बहुत सरल विधि है, जिसमें जीव समसूत्री विभाजन के द्वारा दो या दो से अधिक खण्डों में विभाजित हो जाता है |

    जब जीव केवल दो खण्डों में विभाजित होता है, तब इस विधि को द्वि-विभाजन (Binary fission) या द्विविखण्डन कहते हैं, लेकिन जब यह दो से अधिक खण्डों में विभाजित होकर प्रजनन करता है, तब इस प्रजनन को बहु-विभाजन (Multiple fission) कहते हैं ।

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये