अंग्रेजों के विरुद्ध सन्यासी विद्रोह का उल्लेख किस पुस्तक में मिलता है

    प्रश्नकर्ता Contact form User
    Participant
Viewing 1 replies (of 1 total)
  • उत्तर
    उत्तरकर्ता Quizzer Jivtara
    Participant

    अंग्रेजों के विरुद्ध सन्यासी विद्रोह का उल्लेख बंकिम चन्द्र चटर्जी के उपन्यास ‘आनन्द मठ’ नामक पुस्तक में मिलता है |

    बंगाल पर अंग्रेजी राज्य स्थापित होने के बाद 1769-70 ई. में भीषण अकाल पड़ा, उधर कम्पनी के पदाधिकारियों ने कर भी कठोरता के साथ वसूलना प्रारम्भ कर दिया।

    सन्यासी लोग कृषि करने के साथ-साथ धार्मिक यात्राएँ भी नियमित करते थे।

    तीर्थ स्थानों पर आने जाने पर प्रतिबन्ध लगाने से सन्यासी लोग नाराज हो गये ।

    इन सन्यासियों की अन्याय के विरूद्ध लडने की परम्परा भी रही थी |

    उन्होंने जनता के साथ मिलकर कम्पनी की कोठियों तथा कोषों पर आक्रमण कर लूट लिया ।

    ये लोग कम्पनी के सैनिकों के विरूद्ध बहुत वीरता से लड़े, लेकिन वारेन हेस्टिंग ने एक लम्बे अभियान के बाद इस विद्रोह को दबा दिया |

Viewing 1 replies (of 1 total)
  • इस प्रश्न पर अपना उत्तर देने के लिए कृपया logged in कीजिये